पुलिस की पिटाई से किसान की मौत..

बीती रात निजी अस्पताल में उपचार के दौरान किसान ने दम तोड़ा….लॉक डाउन का फायदा उठा कर शायद पुलिसकर्मी अपनी खीज आम जनता पर डंडे बरसाकर मिटा रही है ? देश भर से पुलिस के अमानवीय कृत्य की खबरे सुर्खियों में है , बाबजूद इसके पुलिस अपनी छवि पर कालिख पोतने का मन बना चुकी है ? या फिर वह जनता के शब्र का इम्तेहान तो नही ले रही है ? पुलिस के इरादे अगर ये है तो मानो वे खुद कुशी के खाव्व देख रही है ? जिसके परिणाम बेहतर तो कतई नही सेहतमंद आयेंगे ?

लॉक डाउन के बीच गोराबाजार पुलिस का एक मानवीय चेहरा सामने आया है जबलपुर गोराबाजार थाना अंतर्गत तिलहरी में रहने वाले किसान जो कि अपने खेत में बधी गाय को चारा डालने के लिए गया था ! उसे पुलिसकर्मियों ने इस कदर पीटा कि उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई !

मृतक किसान की मौत के बाद परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं ! परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने मृतक किसान बंसी कुशवाह के साथ बेरहमी से मारपीट की उसके बाद उसे बेहोशी की हालत में छोड़ कर चले गए थे ! बीते 3 दिनों से उसकी हालत गंभीर बताई जा रही थी ! गत दिबस उसे उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था !जहां बीती रात लगभग 3:00 बजे बंसी की मौत हो गई ! परिजन दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई कर मामला दर्ज करने की मांग कर रहे हैं !

खेत से लौट रहा था मृतक : – मृतक किसान बंसी कुशवाह के भाई विष्णु ने जानकारी देते हुए बताया कि उसके बड़े भाई बंसी गुरुवार 16 अप्रैल को रात लगभग 10:00 बजे खेत में बंधी गाय को चारा डालने के लिए गए थे ! खेत से लौटते समय उसे लगभग 8 पुलिसकर्मियों ने रोक लिया और लाक डाउन मैं बाहर घूमने की बात करते हुए सभी ने लाठियों से उसके साथ तब तक मारपीट की जब तक कि वह बेहोश नहीं हो गया ! इसके बाद क्षेत्र के लोगों ने उसे बेहोशी की हालत में घर पहुंचाया था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *